कल तृणमूल की शहीद दिवस की वर्चुअल रैली, भाजपा करेगी ‘प्रहसन दिवस’ का पालन

ममता बनर्जी, मुख्यमंत्री, पश्चिमबंगाल

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस की हर साल 21 जुलाई को कोलकाता में होने वाली ऐतिहासिक शहीद दिवस रैली इस बार कोरोना की वजह से नहीं हो पा रही है लेकिन पार्टी ने समर्थकों का उत्साह बनाए रखने व संवाद के आदान प्रदान के लिए मंगलवार को वर्चुअल रैली के आयोजन की तैयारी पूरी कर ली है। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस वर्चुअल रैली के माध्यम से ही बंगाल की जनता को सम्बोधित करेंगी। हालांकि तृणमूल की यह पहली वर्चुअल रैली है। इससे पहले जमीनी स्तर पर 21 जुलाई की रैली तृणमूल के शक्ति प्रदर्शन का भी तरीका रहा है। ऐसे में वर्चुअल रैली राज्य के लोगों को कितना छाप छोड़ पाएगी इसको लेकर संशय बना हुआ है। गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस 21 जुलाई 1993 को पुलिस गोलीबारी में मारे गए 13 लोगों की याद में ‘शहीद दिवस’ मनाती है। ममता बनर्जी उस समय युवा कांग्रेस की नेता थीं जिन्होंने मतदान के लिए मतदाता परिचय पत्र को ही दस्तावेज मानने की मांग को लेकर सचिवालय की ओर मार्च का आह्वान किया था। उसी दौरान पुलिस की गोलीबारी में 13 कार्यकर्ता मारे गए थे। शहीद दिवस पर यह वर्चुअल रैली मंगलवार को दोपहर 2 बजे से शुरू होगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का संबोधन संभवतः 2:30 बजे शुरू होगा।

‘प्रहसन दिवस’ का पालन करेगी भाजपा

दिलीप घोष

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने साफ किया कि 21 जुलाई को प्रदेश भाजपा ‘प्रहसन दिवस’ का पालन करेगी। उन्होंने कहा कि राज्यभर में भाजपा समर्थक काला झंडा व काले रंग का बैच पहनकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। दरअसल भाजपा, तृणमूल के 21 जुलाई की रैली का विरोध करना चाहती है। ‘प्रहसन दिवस’ पर भाजपा राज्य के विभिन्न घोटालों को लेकर विरोध प्रदर्शन करेगी।

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here