बिना नाम लिये प्रधानमंत्री से शिकायत किये जाने पर मुख्यमंत्री से फिर नाराज राज्यपाल

पुलिस के शीर्ष अधिकारियों की संपत्ति का भी राज्यपाल ने माँगा हिसाब

कोलकाता : सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) से वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने बिना नाम लिये अप्रत्यक्ष रूप से राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) की शिकायत की थी। उन्होंने कहा था कि संवैधानिक पद पर रहकर भी कोई-कोई सरकार के साथ सहयोग नहीं कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने भले ही नाम नहीं लिया था लेकिन एक बात तो तय थी कि वे राज्यपाल के बारे में बात कर रहीं थीं और राज्यपाल ने यह समझने में देर नहीं की। इसीलिए मंगलवार को ट्वीट एवं चिट्ठी के माध्यम से उन्होंने मुख्यमंत्री के उक्त बयान को लेकर नाराजगी जाहिर की है।

उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री की असहयोगिता के आरोपों से मैं आश्‍चर्य हूँ। उनके इस बयान का मैं विरोध करता हूँ। उन्होंने यह भी चिट्ठी में लिखा है कि मैं जो बोलता हूँ, वह लोगों की भलाई के लिए है। राजनीति करना मेरा मकसद नहीं है। अपने संवैधानिक दायित्व को निभाने के लिए मैं तत्पर हूँ। राज्यपाल ने संविधान के तहत मुख्यमंत्री को सहयोग देने की भी बात कही। दूसरी तरफ राज्यपाल ने पुलिस के शीर्ष अधिकारियों की संपत्ति को लेकर भी सवाल खड़े किये हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि जिन पुलिस अधिकारियों ने अपनी क्षमता का लाभ उठाया है और उनकी सम्पत्ति में जो इजाफा हुआ है, उसका भी हिसाब लेने का समय आ गया है।

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here