चिकित्सा के अभाव में मरीज की मौत, 3 अस्पतालों के खिलाफ थाने पहुंचा परिवार

Advertisement

कोलकाता : अस्पतालों का चक्कर लगाने के बाद भी बेटे को नही मिला अस्पताल में दाखिला और आखिरकार उसकी मौत हो गई। इस घटना से गुस्साए परिजनों ने राज्य के 2 सरकारी और 1 गैर सरकारी अस्पताल के विरुद्ध बेलघरिया थाने में शिकायत दर्ज कराई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर 24 परगना के इच्छापुर के निवासी शुभ्रजीत चटर्जी की गुरुवार रात अचानक तबियत खराब हो गई। पहले उसे कमरहट्टी के ईएसआई अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसे दाखिल नही लिया गया। इसके बाद उसे बेलघरिया के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। आरोप है कि वहां काफी देर तक परिजनों को डॉक्टर का इंतजार करना पड़ा। आखिरकार पुलिस की मदद से उक्त अस्पताल में छात्र का कोरोना टेस्ट किया गया। जानकारी के अनुसार छात्र के रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि होने के बाद अस्पताल ने उसे भर्ती लेने से मना कर दिया। इसके बाद परिजन उसे लेकर फिर कमरहट्टी ईएसआई अस्पताल पहुंचे। वहां से उन्हें सागर दत्त मेडिकल कॉलेज जाने को कहा गया। किसी तरह परिजन छात्र को लेकर सागर दत्त अस्पताल पहुंचे तो उन्हें बताया गया कि अस्पताल में बेड खाली नहीं है। अन्ततः लालबाजार पुलिस की मदद से कोलकाता मेडिकल कॉलेज में परिजन पहुंचे। आरोप है कि यहां भी पहले डॉक्टरों ने शुभ्रजीत का इलाज करने से मना कर दिया था। इसके बाद जब उसकी माँ ने आत्महत्या करने की धमकी दी तब उसे अस्पताल के अंदर तो किसी तरह लाया गया लेकिन काफी समय बीत जाने के बाद भी उसका इलाज नहीं किया गया। जिसके कारण रात में ही शुभ्रजीत ने दम तोड़ दिया। इस घटना से मृतक के परिजनों में राज्य की चिकित्सा व्यवस्था के खिलाफ रोष है। उनकी तफर से 3 अस्पतालों के खिलाफ बेलघरिया थाने में शिकायत भी दर्ज करायी गई है।

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here