महिला मुख्यमंत्री होने के बाद भी राज्य में महिलाओं की स्थिति बदत्तर – Debasree Choudhary

Advertisement

कोलकाता : केंद्रीय महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री Debasree Choudhary का कहना है कि राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) खुद एक महिला है लेकिन इसके बाद भी महिलाओं की स्थिति राज्य में बदत्तर है और मुख्यमंत्री को इसकी सूध ही नहीं है। अपने फेसबूक लाइव प्रोग्राम में बात करते हुए केन्द्रीय मंत्री ने आरोप लगाया कि राज्य में हर रोज महिला अपराध की खबरें सामने आती हैं। कभी दुष्कर्म तो कभी कुछ और, महिलाओं की स्थिति यहाँ आशंकाजनक है। राज्य सरकार को इस बात का जवाब देना चाहिये कि अब तक कितने मुजरिमों को महिला अपराध के मामले में सजा मिली है? चुँकि बंगाल की मुख्यमंत्री एक महिला हैं इसीलिए लोगों को यह उम्मीद थी कि वे महिलाओं की सुरक्षा के लिए काम करेंगी लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) के नेतृत्व में केन्द्र का ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान आगे बढ़ रहा है। इस अभियान का एक ही लक्ष्य है बच्चियों एवं महिलाओं को हर आगे बढ़ने में मदद करना।

Debasree Choudhary ने कोरोना एवं अम्फान पीड़ितों की मदद के लिए आगे आने वाले भाजपा विधायक व सांसदों को राज्य सरकार एवं पुलिस द्वारा रोके जाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को राज्य एवं यहाँ के लोगों की चिंता है। अम्फान एवं कोरोना के कारण यहाँ के लोग लगातार मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। राज्य में भाजपा नेताओं को लोगों के लिए काम करने से रोका जा रहा है। हमारा लक्ष्य लोगों के विकास के लिए काम करना है जो राज्य में बदलाव चाहते हैं।

यह भी पढ़ें : West Bengal : सरकारी धन का सबसे ज्यादा दुरुपयोग करने वाला राज्य है पश्चिम बंगाल – कैलाश विजयवर्गीय

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here