सितंबर में स्कूल खोलने के संकेत पर दिलीप का कटाक्ष – ‘उन्हें कैसे पता सितंबर में क्या होने वाला है?’

दिलीप घोष, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष, पश्चिम बंगाल

कोलकाता : हाल ही में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने कहा था कि अगर सितंबर में कोरोना (Corona) का कहर कम हुआ तो 5 सितंबर से सरकार स्कूल व कॉलेज खोलने पर विचार कर रही है। इस पर अब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने मुख्यमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि पता चला है कि राज्य सरकार सितंबर से स्कूल व कॉलेजों को खोलने पर विचार कर रही है। सितंबर में क्या होगा, उन्हें क्या पता? इस मामले में भी मुख्यमंत्री राजनीति कर रही हैं। उन्होंने आगे कहा कि सेंट्रल बोर्ड पहले सितंबर में परीक्षा करवाना चाहता था लेकिन उस वक्त मुख्यमंत्री ने इसका विरोध किया। अब पता चल रहा है कि वे खुद स्कूल व कॉलेज खोलने की बातें कर रही हैं। अभी तो अगस्त ही नहीं आया है, सितंबर की स्थिति उन्हें कैसे पता चलेगी। इन चीजों को लेकर राजनीति करना उचित नहीं। परिस्थिति के मुताबिक अगर फैसले लिये जाये तो ज्यादा बेहतर होगा। बच्चों का साल बर्बाद हो रहा है। दिलीप घोष ने यह भी कहा कि एक लॉकडाउन की घोषणा करने के वक्त तो 4 बार तारीखें बदली जाती हैं। मोहर्रम व शुक्रवार को लॉकडाउन नहीं होगा लेकिन अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के दिन लॉकडाउन रहेगा। मुख्यमंत्री के फैसले उन्हें ही हानि पहुँचायेंगे।

भाजपा में नहीं है कोई मतभेद

हाल ही में दिल्ली में बैठक को लेकर प्रदेश भाजपा में मन मुटाव की खबरें सामने आ रही थी लेकिन दिलीप घोष ने साफ कर दिया है कि भाजपा में आपस में कोई मतभेद नहीं है। संवाद माध्यम का एक अंश किसी के कहने पर जान बूझकर ऐसा कर रहा है। भाजपा कर्मियों पर लोगों का विश्‍वास है। विरोधी लोगों को भ्रमित करने की कोशिश कर रहे हैं।

Advertisement
     

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here