रिटायर्ड नौसेना कर्मियों को अब आसानी से मिलेगी नौकरी

भारतीय नौसेना की प्लेसमेंट एजेंसी और इंडिया इंफोलाइन होम फाइनेंस लिमिटेड के बीच एक समझौता किया गया है। इस समझौता के तहत दोनों संस्थाएं नौसेना के अनुभवी कर्मियों के लिए नौकरियों का पता लगाएंगी।

Navy Veteran's Employment Program

नई दिल्ली: अब नौसेना से सेवानिवृत्त कर्मियों को नौकरी खोजने के लिए हैरान-परेशान नहीं होना पड़ेगा। इसके लिए भारतीय नौसेना की प्लेसमेंट एजेंसी और इंडिया इंफोलाइन होम फाइनेंस लिमिटेड के बीच एक समझौता किया गया है। जिसके तहत ये दोनों संस्थाएं नौसेना के अनुभवी कर्मियों के लिए नौकरियों का पता लगाएंगी। इससे विभिन्न भूमिकाओं में कार्य करने में सक्षम पूर्व कर्मियों, पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

आम तौर पर देखा गया है कि 15 साल की सेवा के बाद रिटायर होने पर नौसेना कर्मियों को सरकारी या निजी क्षेत्र में नौकरी खोजने के लिए परेशान होना पड़ता था। हालांकि इसके लिए भारतीय नौसेना प्लेसमेंट एजेंसी (आईएनपीए) का गठन किया गया था लेकिन इससे पूर्व नौसेना कर्मियों की समस्याएं दूर नहीं हो पा रही थीं। अब आईएनपीए ने आईआईएफएल होम फाइनेंस लिमिटेड (आईआईएफएल एचएफएल) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है। दोनों संस्थाएं नौसेना के अनुभवी कर्मियों के लिए नौकरियों का पता लगाएंगी। इससे आईआईएफएल एचएफएल में विभिन्न भूमिकाओं में कार्य करने के लिए सक्षम पूर्व कर्मियों, पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों को रोजगार के मौके मिलेंगे।

भारतीय नौसेना के कार्मिक सेवा नियंत्रक वाइस एडमिरल सूरज बेरी और आईआईएफएल एचएफएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी तथा प्रबंध निदेशक मोनू रात्रा ने इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। आईएनपीए का प्रतिनिधित्व पूर्व सैनिक ईएसएम मामलों के प्रधान निदेशक कमोडोर पंकज शर्मा और नौसेना मुख्यालय में ईएसएम मामलों के कमांडर कमोडोर विजय कुमार ने किया, जबकि आईआईएफएल होम फाइनेंस लिमिटेड का प्रतिनिधित्व कर्नल राजेश शुक्ला (सेवानिवृत्त), लीड सेल्स एंड बिजनेस डेवलपमेंट (वर्दीधारी बल) तथा आईआईएफएल एचएफएल में हेड-एचआर सुश्री रश्मी प्रिया ने किया।

समझौता ज्ञापन के माध्यम से भारतीय नौसेना की प्लेसमेंट एजेंसी आईआईएफएल एचएफएल के मानकों के अनुसार प्रासंगिक भूमिकाओं के लिए भूतपूर्व सैनिकों एवं आश्रित उम्मीदवारों के एक पूल की पहचान करेगा। कंपनी इसके बदले में इन-हाउस सम्मेलन और प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से इन व्यक्तियों को कॉर्पोरेट क्षेत्र में कार्य करने के लिए सक्षम बनाएगी। आईआईएफएल एचएफएल का उद्देश्य पूर्व सैनिकों को उनकी योग्यता, अनुभव एवं सेवा अवधि के दौरान हासिल किये गए अनुभवों के अनुरूप अवसर देना है। प्रबंध निदेशक मोनू रात्रा ने राष्ट्र के लिए अपनी सेवा पूरी करने के बाद इन कर्मियों को रोजगार के अवसर ढूंढने में मदद करने के लिए भारतीय नौसेना प्लेसमेंट एजेंसी के प्रयासों की सराहना की।

आईआईएफएल एचएफएल में हेड-एचआर सुश्री रश्मि प्रिया ने कहा कि निस्वार्थ भाव से देश की सेवा करने वाले नौसेना कर्मियों के पास विशेष कौशल है, जिन्हें एक स्वस्थ दुनिया बनाने की दिशा में इस्तेमाल किया जा सकता है। इस समझौता से हम देश के सशस्त्र बलों के प्रति अपनी वचनबद्धता को आगे बढ़ाने की उम्मीद करते हैं। वाइस एडमिरल सूरज बेरी ने कहा कि आईएनपीए भूतपूर्व सैनिकों, वरिष्ठ कर्मियों के लिए रोजगार के अवसर खोजने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि हम ऐसे कार्यक्रमों की पहचान और उनका विकास करने के लिए कॉर्पोरेट क्षेत्र के साथ मिलकर काम करें। हम इस पहल पर आईआईएफएल एचएफएल के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं।

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here