इंटरनेट की सुविधा प्राप्त विद्यार्थियों की संख्या जुटा रहा स्कूल शिक्षा विभाग

Advertisement

कोलकाता : कोरोना की वजह से शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से वर्चुअल प्लेटफॉर्म के माध्यम से चल रही है। पिछले कुछ महीनों से लगातार ऑनलाइन माध्यम से ही विद्यार्थी अपनी पढ़ाई आगे बढ़ा रहे हैं। अब स्कूल शिक्षा विभाग ने पश्चिम बंगाल के सभी सरकारी व सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों को ऐसे विद्यार्थियों की संख्या बताने के लिए कहा है जिनके पास ऑनलाइन पढ़ाई का साधन मौजूद है। प्राप्त जानकारी के अनुसार विभाग के पास स्कूलों की ओर से विद्यार्थियों के आँकड़े सौंपे जाने का काम शुरू हो चुका है और इस सप्ताह में सभी स्कूल आँकड़े साझा कर लेंगे, ऐसी जानकारी मिली है।

केवल 60-70 फीसदी विद्यार्थियों के पास स्मार्ट फोन की सुविधा

शिक्षा विभाग के एक अधिकारी की मानें तो अभी तक सौंपे गए रिपोर्ट से पता चला है कि शहरी इलाकों में केवल 60-70 फीसदी विद्यार्थियों के पास ही स्मार्ट फोन व इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध है। वहीं महानगर के सरकारी स्कूल के शिक्षकों की मानें तो विद्यार्थियों की ओर से जो नंबर दिए गए हैं उनपर स्कूल की ओर से स्टडी मटेरियल भेज दिए जाते हैं। उनमें से बहुत सारे नंबर विद्यार्थियों के अभिभावकों के हो सकते हैं। ऐसे में इन नंबरों के माध्यम से बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई तभी कर पाते हैं जब उनके अभिभावक घर में मौजूद होते हैं।

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here