इतिहास के पन्नों में 12 जुलाई

Advertisement

कोलकाता : इतिहास के पन्नों में 12 जुलाई का दिन कई महत्वपूर्ण घटनाओं का साक्षी है। उनमें से चुनिंदा घटनाएँ हमारे पाठकों के लिए यहाँ साझा किया जा रहा है।

साल 1690 : विलियम ऑफ ऑरेंज के नेतृत्व में प्रोटेस्टेंट ने रोमन कैथोलिक सेना को पराजित किया।

साल 1801 : अल्जीसिरास की लड़ाई में ब्रिटेन ने फ्रांस और स्पेन को पराजित किया।

साल 1823 : भारत में निर्मित प्रथम वाष्प इंजन युक्त जहाज डायना’ का कलकत्ता (अब कोलकाता) में जलावतरण।

साल 1862 : अमेरिकी कांग्रेस ने मेडल ऑफ ऑनर को प्राधिकृत किया।

साल 1912 : क्वीन एलिजाबेथ’ अमेरिका में प्रदर्शित होने वाली पहली विदेशी फिल्म बनी।

साल 1918 : टोकायाम की खाड़ी में जापानी युद्धपोत में विस्फोट में 500 लोगों की मौत।

साल 1935 : बेल्जियम ने तत्कालीन सोवियत संघ को मान्यता दी।

साल 1949 : महात्मा गांधी की हत्या के बाद आरएसएस पर लगाए गए प्रतिबंध को सशर्त हटाया गया।

साल 1957 : अमेरिकी सर्जन लेरोय इ बर्नी ने बताया कि धूम्रपान और फेफड़े के कैंसर में सीधा संबंध होता है।

साल 1960 : भागलपुर और रांची यूनिवर्सिटी की स्थापना।

साल 1970 : अलकनंदा नदी में आई भीषण बाढ़ ने 600 लोगों की जान ली।

साल 1990 : प्रसिद्ध सोवियत नेता और रूसी संसद के अध्यक्ष बोरिस येल्तसिन ने सोवियत कम्यूनिस्ट पार्टी से इस्तीफा दिया। 1994 – फ़लस्तीनी मुक्ति संगठन के अध्यक्ष यासर अराफात 27 वर्ष का निर्वासित जीवन गुजारने के बाद गाजा पट्टी पहुंचे।

साल 1997 : नोबेल पुरस्कार से सम्मानित मलाला यूसुफजई का पाकिस्तान में जन्म।

साल 1998 : फ्रांस और ब्राजील के बीच हुए फुटबॉल विश्वकप के फाइनल को कुल 1.7 अरब लोगों ने देखा।

साल 2001 : अगरतला से ढाका के बीच ‘मैत्री’ बस सेवा की शुरुआत।

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here