मारवाड़ी महिला सम्मेलन की प.बं. प्रादेशिक प्रथम कार्यकारिणी बैठक सम्पन्न

Advertisement

सामाजिक उत्थान के लिए और अग्रसर होकर कार्य करने का संकल्प

कोलकाता : अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन के तत्वाधान में पश्चिम बंगाल प्रदेश की प्रथम प्रांतीय कार्यकारिणी बैठक का 17 अगस्त को जूम द्वारा ऑनलाइन आयोजन प्रांतीय अध्यक्षा रेनु अग्रवाल की अध्यक्षता में किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन, गणेश वंदना और सदस्यों द्वारा स्वागत गीत-नृत्य से हुई। बैठक में बतौर मुख्य अतिथि सम्मेलन की राष्ट्रीय अध्यक्ष शारदा लाखोटिया एवं विशिष्ट अतिथि रेखा लाखोटिया को रेनु अग्रवाल द्वारा तुलसी पौधा एवं उत्तरीय प्रदान कर स्वागत कार्यक्रम की शुरुआत की गई।

प्रांतीय अध्यक्ष रेनु अग्रवाल ने अपने उदगार मे कहा कि प्रकृति को हम जो देते है वही हमे वापस मिलता है अत: प्लास्टिक हटाओ, थैला लाओ का प्रचार प्रसार करते हुए वर्तमान वैश्‍विक महामारी के प्रति समाज में जागरुकता बढ़ाने पर बल दिया। साथ ही सोलर एनर्जी पर कार्य, अंगदान-देहदान-नेत्रदान के प्रति समाज में जागरूकता, महिला उद्योगों द्वारा महिलाओं को आआत्मनिर्भर बनाने  के क्षेत्र में अगसर होकर कार्य करने की आवश्यकता जतायी। प्रांतीय सचिव बिनीता अग्रवाल द्वारा बंगाल प्रांत की 35 शाखाओं के सेवा कार्यों का उल्लेख किया गया जबकि सभी शाखाओं की विभिन्न गतिविधियों की रिपोर्ट सभी शाखा सचिवों  द्वारा प्रस्तुत की गई। बैठक में उपस्थित पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष, राष्ट्रीय प्रकल्प प्रमुख, सहित कई गणमान्य पदाधिकारीयों ने भाग लिया और बैठक की सफलता एवं प्रांत की उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

राष्ट्रीय सचिव रेखा लाखोटिया ने संगठन के उद्देश्यों की जानकारी दी। राष्ट्रीय जन जागरण प्रमुख इंदु सोमानी ने सभ्यता के प्रसार और सामाजिक बुराई को दूर करने पर जोर दिया। प्रांत द्वारा प्रकाशित वार्षिक पत्रिका ‘पहचान’ का राष्ट्रीय व प्रांतीय पदाधिकारियों द्वारा विमोचन किया गया। संपादिका मंजुश्री गुप्ता जी ने बताया कि वार्षिक पत्रिका के माध्यम से शाखाओं की गतिविधियों के साथ ही रचनात्मक सामग्री का भी प्रकाशन होता है। प्रान्तीय स्तम्भ बिमला डोकानिया ने इस विकट परिस्थितियों के बावजूद 1 अंगदान, 2 नेत्रदान और रक्तदान में 309 यूनिट रक्त जमा करने पर खुशी जाहिर की। राष्ट्रीय पर्यावरण प्रमुख मधुलिका सिंघानिया ने 2 गौकास्ट मशीन लगाने पर खुशी जाहिर की। पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष सरोज लोढ़ा ने भाव-विभोर होते हुए समाज की बहनों को इसी तरह आगे भी काम करने के लिए प्रोत्साहित किया। राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्‍वेता टिबड़ेवाल ने कहा कि बाल विकास-समाज विकास के कई प्रकल्पो के द्वारा समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना ही हमारा मुख्य लक्ष्य है। बहनों को सेवा कार्यों की ओर प्रोत्साहित करने के लिए प्रांतीय अध्यक्ष रेनु अग्रवाल द्वारा अंगदान, नेत्रदान, रक्तदान, पर्यावरण, गौ-सेवा, आपदा जन-सेवा जैसे कार्यों के लिए 30 प्रोत्साहन पुरस्कार दिए गए।

उत्कृष्ट अंक प्राप्त 125 बच्चों को प्रतिभा सम्मान सर्टिफिकेट प्रदान किया गये। इस अवसर पर बहुत ही रोचक वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें विवेचना का विषय था कोविड-वरदान या अभिशाप। इसमें बतौर मॉडरेटर राष्ट्रीय सम्पादिका बबीता बगड़िया थी और विजेता घोषित हुई-बेनाचट्टी की रंजू अग्रवाल। इस अवसर पर नारी सशक्तिकरण पर प्रस्तुति भी दी गयी।

कार्यक्रम का संचालन प्रांतीय सम्पादिका मंजूश्री गुप्ता द्वारा किया गया। प्रांतीय कोषाध्यक्ष सरीता सराफ ने समाजसेवा के प्रति अपना पूर्ण सहयोग करने की कटिबद्धता दर्शायी। प्रांतीय सचिव बिनीता अग्रवाल ने धन्यवाद ज्ञापन देकर राष्ट्रगान के साथ बैठक का समापन किया। कोरोना काल की इस विकट परिस्थिति में भी महिलाओं में ऑनलाइन बैठक का सफल आयोजन कर एक बार फिर से अपनी नारी शक्ति का परिचय दिया है।

Advertisement
     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here